May 11, 2021

परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत 58 शिक्षक, अनुदेशक और शिक्षामित्रों को इंटीग्रेटेड कोविड कमांड व कंट्रोल सेंटर ड्यूटी से गायब रहना भारी पड़ सकता

 

गोरखपुर। परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत 58 शिक्षक, अनुदेशक और शिक्षामित्रों को इंटीग्रेटेड कोविड कमांड व कंट्रोल सेंटर ड्यूटी से गायब रहना भारी पड़ सकता है। जिला प्रशासन के निर्देश पर बेसिक शिक्षा अधिकारी ने इन्हें आखिरी अल्टीमेटम जारी करते हुए जल्द कार्य पर लौटने का निर्देश दिया है। अन्यथा उन्हें न केवल अनुशासनात्मक कार्यवाही झेलने पड़ेगी, बल्कि मामले की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भी प्रेषित कर दी जाएगी।


कोरोना महामारी के चलते डीएम के निर्देश पर कई शिक्षकों, शिक्षामित्रों और अनुदेशकों की ड्यूटी आपदा प्रबंधन अधिनियम 56 के अंतर्गत दोपहर दो बजे से रात 10 बजे तक इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर में लगाई गई है। जहां इन्हें होम आइसोलेशन मरीजों को सहायता देने, कांटेक्ट ट्रेसिंग और डाटा फीडिंग का कार्य करना है, मगर 58 लोग लगातार ड्यूटी से अनुपस्थित चल रहे हैं। कई दफा इसे लेकर चेतावनी दी गई है, मगर कोई भी कार्य करने को तैयार नहीं हुआ है। इसके बाद जिला प्रशासन ने इनकी सूची तैयार कर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को प्रेषित किया है। बीएसए बीएन सिंह ने कहा कि संबंधित विकासखंड के खंड शिक्षा अधिकारियों को सूची प्रेषित कर इन्हें काम पर भेजने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके बाद भी शिक्षक कार्य करने को तैयार नहीं होते हैं तो विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।

जंगल कौड़िया व खजनी ब्लॉक के सर्वाधिक शिक्षक गायब : ज्यादातर गायब रहने वाले शिक्षकों में सर्वाधिक 9-9 शिक्षक जंगल कौड़िया और खजनी ब्लॉक के हैं। जबकि, बेलघाट, गगहा और गोला से चार-चार बड़हलगंज से दो, उरुवा और पाली से तीन, बांसगांव और कौड़ीराम से दो-दो शिक्षकों, अनुदेशक और शिक्षामित्रों की ड्यूटी लगाई गई है। ये लोग भी ड्यूटी से गायब चल रहे हैं।

परिषदीय विद्यालयों में कार्यरत 58 शिक्षक, अनुदेशक और शिक्षामित्रों को इंटीग्रेटेड कोविड कमांड व कंट्रोल सेंटर ड्यूटी से गायब रहना भारी पड़ सकता Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment