Primary ka Master & UPTET News

May 4, 2021

बेकाबू कोरोना संक्रमण पर लगाम कसने के लिए सरकार अब धीरे-धीरे सख्ती बढ़ाती नजर

 लखनऊ: बेकाबू कोरोना संक्रमण पर लगाम कसने के लिए सरकार अब धीरे-धीरे सख्ती बढ़ाती नजर आ रही है। दो दिन की साप्ताहिक बंदी को तीन दिन करने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बार की बंदी को कुल पांच दिन का करते हुए गुरुवार सुबह सात बजे तक के लिए बढ़ा दिया है। हालांकि, इस फैसले को पंचायत चुनाव परिणामों के जश्न आदि पर रोक की मंशा से जोड़कर भी देखा जा रहा है।



कोरोना संक्रमण को बढ़ते देख मुख्यमंत्री लगातार चिंता जता रहे हैं। सोमवार को टीम-9 के साथ वचरुअल चर्चा में उन्होंने कहा कि कोविड का वर्तमान स्ट्रेन लगातार रूप बदल रहा है। यह पहली लहर की तुलना में 30 से 50 गुना अधिक संक्रामक है। कुछ केस में देखा गया है कि कोविड टेस्ट में भी इसकी पुष्टि नहीं हो रही है, जबकि सीटी स्कैन में पता लग रहा कि फेफड़े प्रभावित हैं। ऐसे में हमें और सतर्कता के साथ काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण और जरूरी रणनीति के लिए राज्य स्तर पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों का एक सलाहकार पैनल तैयार किया जाए। यह पैनल राज्य स्तरीय टीम-9 को समय-समय पर आवश्यक परामर्श देगा। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का परामर्श रणनीति तैयार करने में उपयोगी होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए सरकार लगातार जरूरी कदम उठा रही है। शुक्रवार रात आठ बजे से मंगलवार सुबह सात बजे तक प्रदेशव्यापी साप्ताहिक बंदी प्रभावी है। इसे दो दिन और विस्तार दिया जा रहा है। अब प्रदेश में गुरुवार सुबह सात बजे तक आंशिक कोरोना कफ्यरू प्रभावी रहेगा। इस अवधि में आवश्यक और अनिवार्य सेवाएं जारी रहेंगी। दवा, सब्जी की दुकानें, औद्योगिक इकाइयां आदि चलती रहेंगी।

लखनऊ के कमांड सेंटर का निरीक्षण करेंगे स्वास्थ्य मंत्री : मुख्यमंत्री लखनऊ में संक्रमण की स्थिति को लेकर चिंतित हैं। उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह से कहा है कि लखनऊ के कोविड कमांड सेंटर का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं की निगरानी करें।


राज्य ब्यूरो, लखनऊ: कोरोना से जिंदगियां बचाने की जंग लड़ रहे कोरोना योद्धाओं का हौसला बढ़ाने के लिए सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला किया है। कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे डाक्टर और नर्सिंग स्टाफ को सरकार वेतन का 25 फीसद अतिरिक्त मानदेय देगी। यह सुविधा अनुबंध-आउटसोर्स कर्मियों सहित सभी कोरोना योद्धाओं को मिलेगी। इस संबंध में जल्द आदेश जारी करने का निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया है।

मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों से कहा कि कोविड से संबंधित कार्यों में लगे सभी स्वास्थ्यकर्मियों, चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, हाउसकी¨पग स्टाफ, स्वच्छताकर्मी, आशा व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आदि की सेवाएं सेवाभाव और कर्तव्यपरायणता का उत्कृष्ट उदाहरण हैं। सरकार ऐसे कार्मिकों को प्रोत्साहन स्वरूप अतिरिक्त मानदेय देगी। अस्पतालों में सेवारत डाक्टरों, नर्सिंग स्टाफ को कोविड सेवा के दिवसों के लिए वर्तमान वेतन अथवा मानदेय का 25 फीसद अतिरिक्त दिया जाएगा। इसी तरह अन्य कोरोना योद्धाओं को भी अतिरिक्त मानदेय मिलेगा। यह अतिरिक्त मानदेय ड्यूटी के बाद इनकी आइसोलेशन अवधि के लिए भी दिया जाएगा। मेडिकल-नर्सिंग अंतिम वर्ष के छात्र-छात्रओं, सेवानिवृत्त स्वास्थ्य कर्मियों, अनुभवी चिकित्सकों, एक्स सर्विस मैन के अनुभवों का भी लाभ कोरोना संबंधी कार्यों में लिया जाएगा। इनका अनुबंध निर्धारित दर से 25 फीसद अधिक मानदेय पर किया जाएगा।


’>>कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए मुख्यमंत्री ने दिया निर्देश

’>>पंचायत चुनाव परिणामों के चलते भी सतर्कता बरत रही है सरकार

जमशेदपुर से आ रही दस टैंकर वाली आक्सीजन ट्रेन

योगी ने बताया कि बरेली और मुरादाबाद व आसपास के क्षेत्रों में आक्सीजन की सुचारु आपूर्ति के लिए ट्रेन आ चुकी है। आगरा में वायु सेवा से आक्सीजन पहुंचाया गया है। अगले एक-दो दिन में गुजरात के जामनगर से 40 टन आक्सीजन के साथ आक्सीजन एक्सप्रेस आएगी। इसी तरह जमशेदपुर से दस टैंकरों वाली एक ट्रेन चल चुकी है। पश्चिम बंगाल से भी टैंकर से आक्सीजन की आपूर्ति हो रही है।

50 करोड़ अतिरिक्त खर्च होगा

वर्तमान में प्रदेश में आठ हजार से अधिक फार्मासिस्ट, इतनी ही संख्या में नर्स, 12 हजार से अधिक डाक्टर, तीन हजार से अधिक लैब टेक्नीशियन, एक हजार से अधिक एक्सरे टेक्नीशियन, एनएचएम के लगे दो हजार स्वास्थ्य कर्मी हैं। इन सभी के मानदेय पर अब सरकार 50 करोड़ रुपये प्रति माह अतिरिक्त खर्च करेगी।

बेकाबू कोरोना संक्रमण पर लगाम कसने के लिए सरकार अब धीरे-धीरे सख्ती बढ़ाती नजर Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment