May 24, 2021

छोटे बच्चों के अभिभावकों को टीके में मिलेगी प्राथमिकता:- मुख्यमंत्री ने कहा- हर जिले में बनाए जाएं अभिभावक स्पेशल बूथ

 

लखनऊ : कोरोना की दूसरी लहर को काबू करने के प्रयास में सतत जुटी योगी सरकार की नजर अब तीसरी लहर से निपटने पर है। चूंकि, विशेषज्ञों ने तीसरी लहर से छोटे बच्चों को खतरे की आशंका जताई है, इसलिए सरकार ने तय किया है कि जिन अभिभावकों के बच्चे छोटे हैं, उन्हें टीकाकरण में प्राथमिकता दी जाएगी। इसके लिए सभी जिलों में अभिभावक स्पेशल बूथ बनाने का भी निर्देश दिया है।


मुख्यमंत्री योगी ने रविवार को टीकाकरण के संबंध में उच्चस्तरीय समिति को दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन अभिभावकों के बच्चे 12 वर्ष से कम आयु के हैं, उनका टीकाकरण प्राथमिकता के साथ किया जाना जरूरी है। इस संबंध में विधिवत कार्ययोजना बनाई जानी चाहिए। हर जिले में अभिभावक स्पेशल बूथ बनाए जाएं। अभिभावकों से संपर्क कर उन्हें टीकाकरण के लिए आमंत्रित करें। यह अभिभावक के साथ-साथ बच्चों की सुरक्षा के लिए उपयोगी होगा। इसे अभियान के रूप में चलाया जाना चाहिए। योगी ने कहा कि वैक्सीन की आपूर्ति लगातार बेहतर हो रही है। टीकाकरण कार्यक्रम तय करते समय वैक्सीन की उपलब्धता का ध्यान रखें। भारत सरकार और दोनों टीका निर्माता कंपनियों से बात करते रहें। मांग-आपूर्ति में संतुलन बनाते हुए गांवों में भी बूथ बनाए जाएं।

सीएम योगी ने कहा कि विभिन्न वैज्ञानिक परीक्षणों में सिद्ध हो चुका है कि कोविड वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित हैं। कोविशील्ड हो या कोवैक्सीन, दोनों ही कोरोना से बचाव के उत्तम विकल्प हैं। कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में टीका लगवाने में संकोच की खबरें आई हैं। उन्हें टीके के दुष्प्रभाव को लेकर आशंका है। यह आशंका निमरूल व पूरी तरह आधारहीन है। अधिकाधिक लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि टीके की हर एक बूंद अमूल्य है। लगातार प्रयासों से वैक्सीन वेस्टेज में कमी आई है। 18 से 44 आयु वर्ग में वैक्सीन वेस्टेज न के बराबर है। बेहतर योजना बनाकर इस क्रम को बनाए रखा जाए।

कार्यालयों में बैठना शुरू करें वरिष्ठ अधिकारी : उन्होंने कहा है कि वरिष्ठ अधिकारी अपने कार्यालयों में बैठना शुरू करें। प्रतिदिन के काम वहीं से करें। सूचना मांगे जाने पर विभागों द्वारा सही और तथ्यात्मक जानकारी समय पर दी जानी चाहिए।

सभी अस्पतालों में बनाएं पोस्ट कोविड वार्ड : योगी ने कहा कि ब्लैक फंगस के इलाज के लिए स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा सभी कोविड अस्पतालों में पोस्ट कोविड वार्ड बनाए जाएं। इन वाडरें में आवश्यक दवाओं सहित भोजन, साफ-सफाई की व्यवस्था भी रहे। पोस्ट कोविड अवस्था में ब्लैक फंगस से प्रभावित व्यक्तियों के इलाज की पूरी व्यवस्था रहे।

पीएचसी-सीएचसी गोद लें जनप्रतिनिधि, योगी भेजेंगे पत्र : मुख्यमंत्री ने कहा कि सांसद, विधायक, महापौर, जिला पंचायत अध्यक्ष, ब्लाक प्रमुख आदि को उनकी (मुख्यमंत्री) की ओर से पत्र भेजकर एक-एक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर को गोद लेने की अपील की जाए। जनप्रतिनिधि स्वास्थ्य केंद्रों की व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए अपनी निधि से योगदान करें। साथ ही रखरखाव के लिए जिला प्रशासन को सहयोग दें।


छोटे बच्चों के अभिभावकों को टीके में मिलेगी प्राथमिकता:- मुख्यमंत्री ने कहा- हर जिले में बनाए जाएं अभिभावक स्पेशल बूथ Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment