Jun 4, 2021

कोरोना महामारी के कारण यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा भी रद कर दी गई है। 12 वीं के विद्यार्थियों को भी प्रोन्नत किया जाएगा

 लखनऊ : कोरोना महामारी के कारण यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा भी रद कर दी गई है। 12 वीं के विद्यार्थियों को भी प्रोन्नत किया जाएगा। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में यह महत्वपूर्ण फैसला लिया गया। हाईस्कूल की परीक्षा पहले ही निरस्त की जा चुकी है। यूपी बोर्ड के सौ साल के इतिहास में यह पहला मौका है, जब हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा निरस्त की गई है। विद्यार्थी प्रोन्नत किए जाएंगे। इंटरमीडिएट के 26.1 लाख और हाईस्कूल के 29.4 लाख विद्यार्थियों को प्रोन्नत किया जाएगा। 56 लाख से अधिक विद्यार्थी लाभान्वित होंगे।



उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने बताया कि कोरोना संक्रमण की वर्तमान परिस्थितियों व विद्यार्थियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए हाईस्कूल के बाद इंटरमीडिएट की परीक्षा भी निरस्त कर दी गई है। यूपी बोर्ड विश्व में सबसे बड़ी परीक्षा संस्था है और हाईस्कूल व इंटर में 56 लाख छात्र पंजीकृत हैं। ऐसे में छात्र हित में यह निर्णय लिया गया है।

उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने का फामरूला भी तैयार कर लिया गया है। हाईस्कूल के विद्यार्थियों का परीक्षाफल कक्षा नौ व कक्षा 10 के प्री बोर्ड के अंकों के औसत के अनुसार तैयार होगा। ऐसे संस्थागत व व्यक्तिगत परीक्षार्थी जिनके अंक उपलब्ध नहीं होंगे, उन्हें सामान्य रूप से कक्षा 11 में प्रमोट किया जाएगा। ऐसे ही इंटरमीडिएट का रिजल्ट कक्षा 11 व 12 वीं के प्री बोर्ड के औसत अंकों के आधार पर तैयार होगा। विद्यार्थियों को प्रोन्नत करने का यह फामरूला विशेषज्ञ समिति के सामने रखा जाएगा। उसकी संस्तुति मिलने के बाद ही लागू किया जाएगा। डा. शर्मा ने बताया कि जिनके अंक उपलब्ध नहीं होंगे, उन्हें केवल कक्षोन्नति का प्रमाणपत्र दिया जाएगा। उन्होंने सभी स्कूल व कालेजों को निर्देश दिए कि सत्र को नियमित रखने के लिए इनकी अगली कक्षा की आनलाइन क्लास शुरू की जा सकती है। यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट के विद्यार्थी अगर किसी एक विषय या सभी विषयों में अंक सुधार के लिए अगले वर्ष होने वाली बोर्ड परीक्षा में शामिल होना चाहेंगे तो उन्हें मौका दिया जाएगा। उन्हें जो मार्कशीट दी जाएगी उस पर वर्ष 2021 ही लिखा जाएगा। यह अंक वर्ष 2021 की परीक्षा के ही माने जाएंगे।

संबंधित सामग्री 5 व 13


जून में ही रिजल्ट निकालने की तैयारी
यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट का रिजल्ट जून में ही घोषित करने की तैयारी की जा रही है। बोर्ड को इसके लिए जरूरी तैयारी करने के निर्देश दिए गए हैं। अगर सबकुछ ठीक रहा तो जून के अंतिम सप्ताह तक परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया जाएगा।

छात्रहित में लिया गया बड़ा फैसला: स्वतंत्रदेव

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की भी परीक्षा रद किए जाने का स्वागत किया है। उन्होंने ट्वीट कर राज्य सरकार का आभार जताया। उन्होंने इस निर्णय को छात्रों के भविष्य को सुरक्षित रखने की दिशा में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम बताया है।


बड़ा फैसला
’यूपी बोर्ड के सौ साल के इतिहास में पहली बार हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा हुई निरस्त
’इंटर का रिजल्ट कक्षा 10 व 11 के औसत अंकों के आधार पर
’अगर कक्षा 11 के अंक नहीं तो 12वीं के प्री बोर्ड के अंक जोड़े जाएंगे
’हाईस्कूल का रिजल्ट कक्षा नौ व कक्षा 10 के प्री बोर्ड के नतीजे के आधार पर होगा तैयार

कोरोना महामारी के कारण यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षा भी रद कर दी गई है। 12 वीं के विद्यार्थियों को भी प्रोन्नत किया जाएगा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment