Aug 30, 2021

सौ-सौ रुपये जुटाकर सात शिक्षकों को सवा करोड़ की मदद, बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों ने पेश की मिसाल

 बलिया:-  प्रदेश के प्राथमिक शिक्षकों का समूह टीचर सेल्फ केयर टीम (टीएससीटी) अपने दिवंगत शिक्षक साथियों के आश्रितों को 20-20 लाख रुपये तक की आर्थिक मदद कर रहा है। वह भी मात्र 100-100 रुपये के सहयोग राशि के बूते। अब तक टीएससीटी की ओर से एक साल में पूर्वांचल के सात शिक्षकों के परिजनों को 1.27 करोड़ की मदद मिल चुकी है। इसमें बलिया, जौनपुर औरवाराणसी के दो-दो शिक्षक आश्रित भी शामिल हैं। इस टीम में प्रदेश के करीब 50 हजार शिक्षक शामिल हैं।



कोरोना काल में बलिया के दो शिक्षकों की मौत हो गई थी। इसमें मनियर ब्लॉक के बहेलिया (करम्मर) गांव निवासी अशोक यादव व बिल्थरारोड क्षेत्र के सरयांडीहू भगत गांव निवासी सत्येंद्रनाथ त्रिपाठी भी शामिल थे। दोनों टीएससीटी के सदस्य भी थे । उनकी मृत्यु की सूचना मिलने पर टीम के सदस्यों ने 100-100 रुपये की मदद कर सत्येंद्र की पत्नी प्रिया त्रिपाठी के खाते में 18.50 लाख तथा अशोक की पत्नी सीमा यादव के खाते में 18 लाख रुपये भेज चुके हैं। इसके अलावा पूर्वांचल के पांच अन्य शिक्षकों की मौत होने के बाद उनके परिजनों की टीएससीटी ने ऐसे ही मदद की। मृत शिक्षक अशोक की पत्नी सीमा यादव ने बताया कि टीएससीटी से जो मदद मिली है उससे काफी बल मिला है। बड़े बेटे विकास ने इसी साल इंटर पास किया है और छोटा बेटा आकाश छठवीं में है। टीएससीटी के सहयोग के बाद विश्वास हो गया है कि दोनों बेटों की पढ़ाई में बाधा नहीं आएगी। मृतक शिक्षक सत्येन्द्र की पत्नी प्रिया त्रिपाठी का कहना है कि संकट की घड़ी में टीचर सेल्फ केयर टीम के सदस्यों ने लाखों रुपये की मदद की है। बड़े बेटे वैभव ने अभी 12वीं की परीक्षा पास की है और छोटा बेटा अभिनव आठवीं में पढ़ता है। इन पैसों से पढ़ाई लिखाई पूरी होगी।


एक साल में पूर्वांचल के आश्रित परिवारों को सहायता

• भारत लाल (जौनपुर) 16 लाख
• त्रिभुवन नाथ पटेल (भदोही) 18 लाख
• संतोष कुमार (वाराणसी): 19 लाख • सुनील चक्रवाल (वाराणसी): 19 लाख • विजय मौर्य (जौनपुर) 18.50 लाख • सत्येन्द्रनाथ त्रिपाठी
(बलिया) :18.50 लाख
• अशोक यादव (बलिया): 18 लाख

सौ-सौ रुपये जुटाकर सात शिक्षकों को सवा करोड़ की मदद, बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों ने पेश की मिसाल Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment