Oct 5, 2021

परिषदीय विद्यालयों में स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति का बदला तरीका

 गोरखपुर : बेसिक शिक्षा विभाग के स्कूलों में दिव्यांग बच्चों को शिक्षित करने के लिए स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति अब जेम पोर्टल के जरिए की जाएगी। सरकारी जेम पोर्टल से सेवा प्रदाता एजेंसी का चयन किया जाएगा। एजेंसी परिषदीय विद्यालयों के लिए इनका चयन करेगी। अभी तक संविदा के आधार पर स्पेशल एजुकेटर रखने की व्यवस्था थी।



प्रदेश में 418 व जिले के बीस ब्लाकों में 17 पदों पर चयन की प्रक्रिया 30 अक्टूबर तक हर हाल में पूर्ण कर लेनी है। वर्ष 2021-22 में समेकित शिक्षा के तहत होने वाली इनकी नियुक्ति 31 मई 2022 तक के लिए होगी। शेष कार्य यह पूर्ववत करेंगे। राज्य परियोजना निदेशक ने बीएसए को निर्धारित तिथि तक नियुक्ति की प्रक्रिया पूर्ण कर पांच नवंबर तक अवगत कराने का निर्देश दिया है।

वर्तमान में जनपद के 2504 परिषदीय विद्यालयों में करीब 6942 दिव्यांग बच्चे हैं। जो शारीरिक, दृष्टि, श्रवण एवं वाणी तथा मानसिक रूप से अक्षम हैं। इन बच्चों को पढ़ाने के लिए स्पेशल एजुकेटर तैनात किए जाते हैं। अभी तक संविदा कर्मियों के रूप में स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति होती थी, लेकिन इस साल से नई व्यवस्था के तहत स्पेशल एजुकेटर के चयन की जिम्मेदारी किसी सेवा प्रदाता एजेंसी को दी जाएगी। वर्तमान में स्पेशल एजुकेटर के रूप में चयनित शिक्षकों को 15950 रुपये मानदेय मिलते हैं।

’ परिषदीय विद्यालयों में स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति का बदला तरीका

’ अभी तक संविदा के आधार पर थी स्पेशल एजुकेटर रखने की व्यवस्था

अभी तक स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति संविदा कर्मी के रूप में होती थी। अब जेम पोर्टल के माध्यम से एजेंसी का चयन कर की जाएगी। शासन के निर्देश पर तय समय सीमा के अंदर चयन प्रक्रिया पूर्ण 30 अक्टूबर तक पूर्ण कर ली जाएगी। इसको लेकर जिला समन्वयक समेकित शिक्षा को निर्देशित कर दिया गया है।

आरके सिंह

परिषदीय विद्यालयों में स्पेशल एजुकेटर की नियुक्ति का बदला तरीका Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment