Oct 21, 2021

चार साल पहले आशुलिपिकों की डीपीसी, अब पदस्थापन

  प्रयागराज: शिक्षा विभाग में मौलिक पदोन्नति पाए आशुलिपिक संवर्ग सेवा के आशुलिपिकों का करीब चार साल बाद पदस्थापन किया है। वैयक्तिक सहायक ग्रेड-2 के पद पर यह पदस्थापना अधिकांशतया उसी जिले में की है, जहां वर्तमान में कार्यरत हैं। एक सप्ताह के भीतर पदस्थापन कार्यालय में कार्यभार ग्रहण करने के निर्देश ललिता प्रदीप, अपर शिक्षा निदेशक (बेसिक) उत्तर प्रदेश ने दिए हैं।




103 आशुलिपिकों की विभागीय पदोन्नति (डीपीसी) अक्टूबर 2017 में हुई थी। इसमें प्रदेश के अलग-अगल जिलों में मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक, उप शिक्षा निदेशक माध्यमिक, जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय, जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान, राज्य शिक्षा संस्थान में कार्यरत आशुलिपिकों को मौलिक पदोन्नति मिली थी। मौलिक पदोन्नति देते हुए पदस्थापन आदेश अलग से निर्गत किया जाना उस समय तय किया गया था। पदस्थापन होने में चार साल का समय लग जाने के कारण कई आशुलिपिक सेवानिवृत्त हो गए। अपर निदेशक ने आदेश में यह स्पष्ट किया है कि पदस्थापन की प्रक्रिया में जिन वैयक्तिक सहायक ग्रेड-2 को ग्रेड-1 के रिक्त पद के प्रति पदस्थित किया गया है, उन्हें उनके मूल पद वैयक्तिक सहायक ग्रेड-2 का ही वेतनमान देय होगा।

चार साल पहले आशुलिपिकों की डीपीसी, अब पदस्थापन Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment