Nov 18, 2021

परिषदीय विद्यालयों में बनने वाले मिड डे मील में अब तो मीनूू भी दर किनार हो गया

 बलरामपुर। परिषदीय विद्यालयों में बनने वाले मिड डे मील में अब तो मीनूू भी दर किनार हो गया है। स्कूलों में बच्चों को केवल तहरी व खिचड़ी दी जा रही है। वह भी तहरी के नाम पर चावल, नमक, हल्दी व पानी का घोल दिया जा रहा है। कई दिनों से एमडीएम का बनना भी बंद है। फल व दूध देने की योजना भी ठप पड़ी है। अभिभावकों के साथ ग्राम प्रधान ने डीएम से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।



सदर शिक्षा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत लाल नगर के प्रधान बसंत लाल तथा अभिभावक बिहारी लाल, बच्छराज, मुन्नी देवी, रामूू, कृपाराम व ओम प्रकाश आदि ने डीएम को दिए गए शिकायती पत्र में कहा है कि गांव के प्राथमिक विद्यालय में एमडीएम का संचालन विगत 10 दिनों से ठप है। इन लोगों का कहना है विद्यालय की इंचार्ज प्रधानाध्यापक सुधा तिवारी महीने में 10-15 दिन ही एमडीएम बनवाती हैं।

एमडीएम में अक्सर बच्चों को चावल, नमक, हल्दी व पानी का घोल तहरी के नाम पर दिया जाता है। खाने की गुणवत्ता इतनी खराब और कम होती है कि न तो बच्चे इसे खाते हैं और न ही उनका पेट भरता है।
हर बुधवार को बच्चों में बटने वाला फल व दूध महीने में केवल एक दिन दिया जाता है वह भी फल के नाम पर सड़ा केला व दूध के नाम पर सफेद पानी ही मिलता है। इन लोगों का यह भी कहना हैं कि इस बारे में जब प्रधानाध्यापक से बात की जाती है तो वह कहती हैं कि मेरी शिकायत चाहे जहां कर दो मेरा कुछ नही होगा।
इन लोगों ने डीएम से मामले की जांच कराकर विद्यालय में मीनू के अनुसार बच्चों के लिए पर्याप्त एमडीएमम बनवाने, नियमानुसार फल व दूध का वितरण कराने तथा दोषी के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है।
इस संबंध में इंचार्ज प्रधानाध्यापक सुधा तिवारी ने बताया कि समय से चेक आदि पर प्रधान आदि का हस्ताक्षर न होने से एमडीएम का संचालन अनियमित है। ग्राम प्रधान निराधार शिकायत कर अनावश्यक दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं। डीएम श्रुति ने बताया कि शिकायत की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी

परिषदीय विद्यालयों में बनने वाले मिड डे मील में अब तो मीनूू भी दर किनार हो गया Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment