28 जन॰ 2022

एक हजार छात्रों पर मुकदमा, कर रहे पलायन

 प्रयागराज : रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) की नान टेक्निकल पापुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) सीबीटी-टू की परीक्षा में एक पद के सापेक्ष 20 गुणा अभ्यर्थियों के चयन की मांग को लेकर ट्रेन रोकने, बवाल, तोड़फोड़ के मामले में दो नामजद व एक हजार अज्ञात के खिलाफ 13 गंभीर धाराओं में कर्नलगंज थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है। उपद्रव के लिए छात्रों को उकसाने के आरोपित युवा मंच के कोआर्डिनेटर राजेश सचान व ईंट-पत्थर चलाने के आरोप में मुकेश यादव और प्रदीप यादव को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। घटना को लेकर छात्रों में आक्रोश है, जिसके मद्देनजर इलाहाबाद विश्वविद्यालय, बघाड़ा, सलोरी, जार्जटाउन समेत अन्य इलाकों में फोर्स तैनात है। घरवालों और मकान मालिकों के दबाव में यहां रहे बड़ी संख्या में छात्र पलायन कर गए हैं। गुरुवार को इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ भवन पर छात्र संगठनों ने प्रदर्शन किया। दूसरी ओर शहर के जिन मोहल्लों में ज्यादा छात्र रहते हैं, वहां गुरुवार को पोस्टर चस्पा कर दिए गए, जिसमें लिखा गया है कि 28 जनवरी को छात्र महाआंदोलन, छात्र एकता जिंदाबाद।




छात्रों की पिटाई का मामला

प्रियंका बोलीं- लोकतांत्रिक तरीके से उठाएं अपनी आवाज

अपने ऊपर हुए पुलिसिया कार्रवाई के बारे में छात्रों ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से बताया। साथ ही रेलवे के एनटीपीसी व ग्रुप डी की नौकरियों में हुए धांधली के विषय में भी अपनी बात रखी। प्रियंका ने सभी छात्रों से यह विश्वास दिलाया कि पार्टी उनके साथ है। लोकतांत्रिक ढंग से अपनी आवाज उठा सकते हैं।

न्यायिक जांच की मांग

 प्रयागराज: छात्रों की पिटाई मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट में पत्र याचिका दाखिल की गई है। अधिवक्ता शैलजाकांत त्रिपाठी, एपी पाल, पीके जैसवार व दो अन्य वकीलों की तरफ से दाखिल पत्र याचिका में बघाड़ा स्थित हास्टल व लाज में घुसकर पुलिस द्वारा छात्रों की पिटाई के मामले की न्यायिक जांच और दोषी पुलिसवालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई है।

एक हजार छात्रों पर मुकदमा, कर रहे पलायन Rating: 4.5 Diposkan Oleh: TET NEWS

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें