26 जन॰ 2022

जिनके स्थान पर देनी थी परीक्षा उनके बारे में मांगी जानकारी

 शिक्षक पात्रता परीक्षा में सेंधमारी करने की कोशिश के आरोप में खुल्दाबाद पुलिस ने सोमवार को तीनों लेखपाल समेत 13 आरोपियों को जेल भेज दिया। सभी के मोबाइल की कॉल डिटेल की पड़ताल करके इस गैंग से जुड़े अन्य आरोपियों की धरपकड़ चल रही है। वहीं दूसरी ओर टीइटी में जिन असली अभ्यर्थियों की जगह ये सॉल्वर परीक्षा देने पहुंचे थे, उनका भी सत्यापन किया जा रहा है। पुलिस ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से इसकी जानकारी मांगी है। संदिग्ध अभ्यर्थियों के मोबाइल नंबर और पता मिलने के बाद उनके खिलाफ भी विधिक कार्रवाई की जाएगी।



क्राइम ब्रांच ने रविवार को स्टेशन के सामने स्थित एक होटल में रुके लेखपाल कमलेश, राधेश्याम, राहुल और झारखंड व बिहार से पहुंचे सॉल्वर गुलशन, पवन यादव, अभिनव सिन्हा, मनीष यादव, शुभम यादव, विभूति प्रसाद यादव, राणा रंजन रवि व रंजन कुमार और दो सहयोगी सर्वेश और युगल किशोर को गिरफ्तार किया था। इस केस में पुलिस ने मांडा निवासी जयदीप मौर्या, पटना के मुन्ना साइबर कैफे वाला और गाजीपुर के अवधेश को वांछित किया है। इसके अलावा अभ्यर्थी झूंसी निवासी विपिन कुशवाहा, करछना का दीप चंद्र यादव, प्रतापगढ़ का कृष्ण कुमार, उपरहार का जितेंद्र यादव, दुबेपुर का सर्वेश दुबे, जसरा का रमेश चौधरी, दारगंज का प्रशांत यादव और शैलेष कुमार के बारे में छानबीन की जा रही है।

टीईटी : नकल करते महिला अभ्यर्थी भी पकड़ी गई

टीईटी के दौरान प्रयागराज में एक महिला अभ्यर्थी भी नकल करते पकड़ी गई है। जगत तारन गर्ल्स इंटर कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ. नंदिनी तिवारी ने उसके खिलाफ जॉर्जटाउन थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने बताया कि जॉर्जटाउन की रहने वाली लक्ष्मी भारतीय शिक्षक पात्रता परीक्षा देने पहुंची थी। परीक्षा के दौरान कक्ष निरीक्षक रेणु कुशवाहा ने शक के आधार पर जांच की तो लक्ष्मी के पास नकल सामग्री मिली।

जिनके स्थान पर देनी थी परीक्षा उनके बारे में मांगी जानकारी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: TET NEWS

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें