22 फ़र॰ 2022

खाद्यान्न घोटाले की पुष्टि फंसेंगे कई अधिकारी

 प्रयागराज : बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग में 26 लाख के खाद्यान्न घोटाले की जांच रिपोर्ट डीएम को सौंप दी गई। जांच रिपोर्ट में घोटाले की पुष्टि हुई है। अब आरोपित सीडीपीओ रामजन्म यादव पर कार्रवाई के लिए डीएम ने शासन को पत्र लिखा है। इस पूरे घोटाले में मिलीभगत से लाखों का माल बेचा और खपाया गया है। 




अगर विस्तृत जांच हो तो कई अधिकारी और कर्मचारी भी इसमें फंसेंगे। मामले की जांच कर रहे जिला प्रोबेशन अधिकारी पंकज मिश्र समेत दो सदस्यीय जांच टीम ने तीन दिनों तक इस मामले में दर्जनों लोगों से पूछताछ के साथ कई साक्ष्य जुटाएं हैं। सीडीपीओ के खिलाफ कई अहम साक्ष्य भी मिले हैं। हालांकि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद भी एफआइआर दर्ज नहीं कराई जा सकी और न ही तात्कालिक रूप से आरोपित सीडीपीओ पर कोई कार्रवाई की गई है। इससे इस प्रकरण में अभी और भी मोड़ आने की संभावना है। खाद्यान्न के रूप में ट्रक में 11418 किग्रा गेहूं, 20971 किग्रा. चना दाल, 343 किलोग्राम बच्चों का किट, 5195 लीटर तेल था, जिसकी कीमत 26 लाख 98 हजार 637 रुपये है। 17 फरवरी को डीएम संजय खत्री से इस घोटाले की शिकायत की गई। सीडीपीओ होलागढ़ द्वारा ट्रक में लदा खाद्यान्न आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को न देकर बेच दिया है। जिलाधिकारी संजय खत्री ने बताया की जांच रिपोर्ट मिल गई है। कार्रवाई के लिए शासन को पत्र लिखा जा रहा है।

l 26 लाख का खाद्यान्न बेचने में शामिल रहे हैं कई अधिकारी l डीएम को मिली रिपोर्ट, होगी विभागीय व कानूनी कार्रवाई

खाद्यान्न घोटाले की पुष्टि फंसेंगे कई अधिकारी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: TET NEWS

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें