25 फ़र॰ 2022

यूपीटीईटी परिणाम स्थगित अब चुनाव बाद आएगा, जानिए क्यों हुआ ऐसा

 

  • पीएनपी के प्रस्ताव को शासन की समिति ने नहीं दी अनुमति 
  • आचार संहिता समाप्त होने के बाद भेजा जाएगा नया प्रस्ताव



प्रयागराज : अंतत: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीईटी)-2021 का परिणाम चुनाव आचार संहिता में अटक गया। पूर्व घोषित कार्यक्रम के मुताबिक उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी (पीएनपी) सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने परिणाम घोषित करने के लिए शासन से अनुमति मांगी थी, जिसे शासन की समिति ने गुरुवार को स्थगित कर दिया। इस कारण 25 फरवरी को घोषित किया जाने वाला परिणाम अब जारी नहीं किया जाएगा। परिणाम जारी करने के लिए आचार संहिता खत्म होने के बाद नई तिथि तय की जाएगी। 



पर्चा लीक होने पर 28 नवंबर, 2021 की रद की गई यूपीटीईटी नया परीक्षा कार्यक्रम घोषित कर 23 जनवरी को प्रदेश भर में दो पालियों में कराई गई। कार्यक्रम में निर्धारित तिथि पर उत्तरमाला जारी करने, अभ्यर्थियों से आपत्तियां लेने और उनके निस्तारण की प्रक्रिया पूरी की गई। इस परीक्षा का कार्यक्रम जब जारी किया गया था, तब चुनाव आचार संहिता नहीं लगी थी। ऐसे में अब आचार संहिता लागू होने पर पीएनपी सचिव ने 25 फरवरी को परिणाम के लिए अनुमति मांगी थी।



 सचिव ने बताया कि परिणाम घोषित करने के प्रस्ताव को शासन की समिति ने अनुमति नहीं दी। इसे स्थगित कर दिया गया है। अनुमति न मिलने के कारण ही 23 फरवरी को संशोधित उत्तरमाला भी जारी नहीं की गई। उनके मुताबिक आचार संहिता खत्म होने पर परिणाम घोषित करने के लिए नई तिथि शासन को प्रस्तावित की जाएगी।

यूपीटीईटी परिणाम स्थगित अब चुनाव बाद आएगा, जानिए क्यों हुआ ऐसा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: TET NEWS

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें