Mar 28, 2022

बोर्ड परीक्षा स्थगित होने की फर्जी विज्ञप्ति वायरल, सचिव ने विज्ञप्ति जारी बताया फर्जी

 

 प्रयागराज : हाईस्कूल की गृह विज्ञान की परीक्षा शनिवार को प्रथम पाली में हुई। इसमें 1815 ने पेपर छोड़ दिया। कुल 21316 विद्यार्थी पंजीकृत थे। मात्र 19501 उपस्थित हुए। प्रथम पाली में ही इंटरमीडिएट की उर्दू, गुजराती, पंजाबी, बंगला, मराठी, आसामी, उड़िया, कन्नड़, सिंधी, तमिल, तेलगू, मलयालय और नेपाली की भी परीक्षा कराई गई। इसके लिए कुल 806 विद्यार्थी पंजीकृत थे। इनमें से 728 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए। तीसरे दिन भी किसी केंद्र पर नकल का मामला प्रकाश में नहीं आया। सभी केंद्रों पर सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए। परीक्षार्थियों की गेट पर तलाशी लेने के बाद ही भीतर जाने दिया गया। अधिकांश केंद्रों पर उड़ाका दल निरीक्षण के लिए पहुंचा। डीआइओएस आरएन विश्वकर्मा ने भी केंद्रों का निरीक्षण किया।



1815 परीक्षार्थियों ने छोड़ी हाईस्कूल गृह विज्ञान की परीक्षा
प्रयागराज: माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा में साल्वरों के बाद अब फर्जीवाड़े की भी एंट्री हो गई है। बोर्ड सचिव के हस्ताक्षर से वायरल की गई विज्ञप्ति में लिखा गया है कि अपर मुख्य सचिव के निर्देश पर 24 मार्च को हुई हिंदी की परीक्षा के बाद आगे होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी गई हैं। इस सूचना से माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज से लेकर शासन तक के अधिकारियों में खलबली मच गई। ऐसे में परिषद सचिव दिब्यकांत शुक्ल की ओर से विज्ञप्ति जारी कर सफाई दी गई है कि परीक्षा स्थगित किए जाने की वायरल हुई विज्ञप्ति फर्जी है। बोर्ड की परीक्षाएं पूर्व में निर्गत कार्यक्रम के मुताबिक यथावत हो रही हैं। बोर्ड सचिव की ओर से शनिवार को जारी की गई विज्ञप्ति में स्पष्ट किया गया है कि कतिपय अराजकत्वों द्वारा माध्यमिक शिक्षा परिषद सचिव प्रयागराज के फर्जी हस्ताक्षर तैयार कर बोर्ड परीक्षा स्थगित किए जाने के संबंध में भ्रामक विज्ञप्ति प्रसारित की गई है। फर्जी विज्ञप्ति में यह उल्लेख भी किया गया है कि किसी भी जिज्ञासा के संबंध में परिषद कार्यालय द्वारा जारी किया गया टोल फ्री नंबर 1801125532553 टोल फ्री नंबर नहीं है। उन्होंने इस सूचना को भी फर्जी बताया है। सचिव ने सभी परीक्षार्थियों, अभिभावकों एवं परीक्षा से जुड़े समस्त अधिकारी, केंद्र व्यवस्थापक, प्रधानाचार्यों को स्पष्ट किया है कि भ्रामक विज्ञप्ति का कदापि संज्ञान न लिया जाए। परिषद द्वारा पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही प्रदेश भर में 12 अप्रैल तक सतत रूप से परीक्षाएं संचालित होंगी।
प्रयागराज: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा-2022 में ड्यूटी तो आनलाइन लगाई गई, लेकिन अधिकांश जिलों में उपस्थिति/अनुपस्थिति शत प्रतिशत अपलोड नहीं की जा रही है। इस स्थिति को गंभीरता से लेते हुए परिषद सचिव ने सभी केंद्र व्यवस्थापकों को 27 मार्च को शाम चार बजे तक कक्ष निरीक्षकों, कार्मिकों व परीक्षार्थियों की शत प्रतिशत उपस्थिति/अनुपस्थिति अपलोड करने के निर्देश दिए हैं। ऐसा न करने वाले केंद्र व्यवस्थापकों के खिलाफ नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। माध्यमिक शिक्षा परिषद सचिव ने केंद्र निर्धारण नीति विषयक शासनादेश का स्मरण केंद्र व्यवस्थापकों को कराया है। लिखा है कि परीक्षा केंद्र पर तैनात कक्ष निरीक्षकों, अन्य कार्मिकों की उपस्थिति बोर्ड द्वारा तैयार कराए गए साफ्टवेयर पर नियमित रूप से दर्ज किए जाने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन अधिकांश जिलों में कई केंद्र ऐसा नहीं कर रहे हैं। एक अवसर देते हुए अब तक का विवरण अपलोड कराने के साथ प्रतिदिन दोनों पाली में ससमय उपस्थिति दर्ज कराने को कहा गया है। इसी आधार बोर्ड परीक्षा ड्यूटी के पारिश्रमिक का भुगतान किया जाना है। उपस्थिति आनलाइन न कराने पर भुगतान में समस्या आएगी। सचिव के मुताबिक प्रतापगढ़, फतेहपुर सहित कुछ जिलों ने शत प्रतिशत उपस्थिति अपलोड की है। आदेश का अनुपालन न किए जाने पर विद्यालय को आगामी बोर्ड परीक्षाओं के लिए परीक्षा केंद्र बनाए जाने से डिबार कर दिया जाएगा।

माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की परीक्षाएं शुरू जासं, प्रयागराज : उत्तर प्रदेश माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की वार्षिक परीक्षाएं शनिवार से शुरू हो गईं। जनपद में कुल 2983 पंजीकृत विद्यार्थियों के लिए 12 केंद्र बनाए गए थे। कहीं भी कोई नकलची नहीं पकड़ा गया। पहले दिन पहली पाली में सुबह आठ से 11:15 बजे तक प्रथमा में संस्कृत प्रथम, पूर्व मध्यमा में अनिवार्य संस्कृत प्रथम, मानविकी वर्ग में अनिवार्य संस्कृत प्रथम, विज्ञान वर्ग में अनिवार्य संस्कृत प्रथम, वाणिज्य वर्ग में अनिवार्य संस्कृत प्रथम की परीक्षा हुई। दूसरी पाली में दो बजे से 5:15 बजे तक पूर्व मध्यमा प्रथम में अनिवार्य संस्कृत प्रथम, मानविकी वर्ग में अनिवार्य संस्कृत प्रथम, विज्ञान वर्ग में अनिवार्य संस्कृत प्रथम तथा वाणिज्य वर्ग में अनिवार्य संस्कृत प्रथम की परीक्षा हुई। झूंसी स्थित संकीर्तन ब्रह्मचर्याश्रम संस्कृत उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 73 छात्रों ने परीक्षा छोड़ दी। पहली पाली में कुल 119 छात्रों में से 77 छात्र ही परीक्षा में शामिल हुए। प्राचार्य सुधा रानी ने बताया कि दूसरी पाली में 108 परीक्षार्थियों में से 77 छात्र ही परीक्षा में शामिल हुए।

सेंट एंथोनी गर्ल्स कालेज मेें इंटरमीडिएट की परीक्षा देकर बाहर निकलतीं छात्राएंl ªFF¦FSX¯F

गृहविज्ञान की परीक्षा में नकल, पकड़ी गईं तीन छात्राएं राज्य ब्यूरो, प्रयागराज: सामान्य तौर पर आसान माने जाने विषय गृहविज्ञान की हाईस्कूल की परीक्षा में तीन छात्राएं नकल करते पकड़ी गईं। इन छात्राओं को रेस्टीकेट कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की तीसरे दिन की परीक्षा में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के कुल 70,207 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। शनिवार को प्रथम पाली में हाईस्कूल की गृहविज्ञान और इंटरमीडिएट की उर्दू, गुजराती, पंजाबी, बंगला, मराठी, उड़िया, कन्नड़, सिंधी, तमिल, तेलुगू, मलयालम व नेपाली विषय की परीक्षा हुई। इसी तरह दूसरी पाली में इंटरमीडिएट की लेखाशास्त्र-नया पाठ्यक्रम (वाणिज्य वर्ग के लिए), बहीखाता तथा लेखाशास्त्र-पुराना पाठ्यक्रम (वाणिज्य वर्ग के लिए) विषय के लिए परीक्षा संपन्न हुई। यूपी बोर्ड सचिव दिब्यकांत शुक्ल के मुताबिक पहली पाली में पंजीकृत 8,11,121 परीक्षार्थियों में 67,694 अनुपस्थित रहे, जबकि दूसरी पाली में पंजीकृत 57,037 परीक्षार्थियों में से 2,513 परीक्षार्थियों ने परीक्षा छोड़ दी। किसी भी केंद्र पर साल्वर पकड़े जाने की तो तीसरे दिन कोई सूचना नहीं रही, लेकिन तीन छात्राएं गृहविज्ञान विषय की परीक्षा में नकल करते पकड़ी गई हैं।
 

बोर्ड परीक्षा स्थगित होने की फर्जी विज्ञप्ति वायरल, सचिव ने विज्ञप्ति जारी बताया फर्जी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment