1 अप्रैल 2022

यूपीटीईटी रिजल्ट कब आएगा, 10 हजार भर्ती घोषणा के बाद उम्मीदवार सीएम योगी से लगा रहे गुहार

 यूपीटीईटी रिजल्ट 2022 कब आएगा? 

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में सम्मिलित हुए 21 लाख से अधिक परीक्षार्थियों के मन फिलहाल एक ही सवाल है। पहले पेपर लीक के मामलों के चलते स्थगित होने के बाद 23 जनवरी 2022 को आयोजित की गयी यूपीटीईटी परीक्षा के आंसर की 27 जनवरी को ही जारी कर दिए गए थे और उम्मीदवारों से उनकी आपत्तियों को 1 फरवरी तक आमंत्रित किया गया था। इन आपत्तियों की समीक्षा के बाद फाइनल आंसर की और यूपीटीईटी रिजल्ट 2022 की घोषणा परीक्षा नियामक प्राधिकारिक, प्रयागराज, उत्तर प्रदेश द्वारा 25 फरवरी तक किए जाने की उम्मीद की जा रही थी। हालांकि, राज्य में विधानसभा चुनावों के चलते यूपीटीईटी 2021 परीक्षा परिणाम घोषित नहीं किए जा सके थे। विभिन्न मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नतीजें तैयार हैं और राज्य शासन से घोषित करने की अनुमति का इंतजार है।

हालांकि, अब जबकि, एक बार फिर सीएम योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में नई सरकार का गठन हो चुका है और मुख्यमंत्री द्वारा लंबित कार्यों के साथ-साथ छात्रों और प्रतियोगी परीक्षाओं के उम्मीदवारों के लिए तमाम घोषणाएं की जा रही हैं, तो यूपीटीईटी रिजल्ट 2022 का इंतजार कर रहे उम्मीदवारों की भी उम्मीदें बढ़ गई हैं। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 में सम्मिलित हुए लाखों उम्मीदवार सीएम योगी और मुख्यमंत्री कार्यालय और अन्य से परिणामों की घोषणा को लेकर आधिकारिक सूचना जारी करने की गुहार विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर लगा रहे हैं। साथ ही, उत्तर प्रदेश टीईटी परीक्षा परिणाम के लिए कोई अपडेट जारी न होने से उम्मीदवार गूगल आदि पर ‘यूपीटीईटी रिजल्ट 2022 कब आएगा’ सर्च कर रहे हैं

 

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के आखिरी कार्यदिवस पर सरकारी नौकरियों, भर्ती परीक्षाओं, एग्जाम सेटर आरक्षण, आदि को लेकर कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की, जो संक्षेप में नीचे दी गई हैं।

यूपी सरकार ने की सरकारी नौकरी और परीक्षाओं को लेकर ये 10 बड़ी घोषणाएं
उत्तर प्रदेश के सभी सेवा चयन आयोग/बोर्ड (UPPSC, UPSSSC, आदि) अगले 100 दिनों के भीतर 10 हजार से अधिक युवाओं को सरकारी नौकरी प्रदान करने की प्रक्रिया पूरी करेंगे।आयोग/बोर्ड 100 दिनों, छह माह और एक वार्षिक भर्ती लक्ष्यों को निर्धारित करेंगे।भर्ती प्रक्रियाओं में आरक्षण के नियमों का पूर्णतः पालन किया जाएगा। भर्ती के विज्ञापन में आरक्षण के नियमों का स्पष्ट उल्लेख होगा।भर्ती प्रक्रिया को शुचितापूर्ण, पारदर्शी, निष्पक्ष एवं भ्रष्टाचारमुक्त बनाने के लिए परीक्षा एजेंसी के चयन एवं परीक्षा केंद्रों के चयन में विशेष सावधानी बरती जाएगी।भर्ती प्रक्रियाओं में तकनीक का अधिक से अधिक उपयोग किया जाएगा।साक्षात्कार पैनल में सदस्यगणों के अतिरिक्त अनुभव प्राप्त व्यक्तियों को भी शामिल किया जाएगा।मृतक आश्रितों की भर्ती प्रक्रिया को बेहतर एवं संवेदनापूर्ण तरीके से निर्धारित समय में किया जाएगा।परीक्षा केंद्रों को निर्धारित करने में शासकीय विद्यालयों को वरीयता दी जाएगी। जिला प्रशासन यह सुनिश्चित करेंगे कि कोई भी दागदार छवि वाला केंद्र, परीक्षा केंद्र न बने।अभ्यर्थियों का वेरीफिकेशन तय समय में पूर्ण किया जाएगा।किसी शैक्षणिक सत्र की परीक्षा उसी सत्र में पूरी की जाएगी।

यूपीटीईटी रिजल्ट कब आएगा, 10 हजार भर्ती घोषणा के बाद उम्मीदवार सीएम योगी से लगा रहे गुहार Rating: 4.5 Diposkan Oleh: TET NEWS

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें