17 अप्रैल 2022

कहने के लिए माडल स्कूल पर शिक्षक हिंदी में पढ़ाने को मजबूर

प्रयागराज : भवन पर ठप्पा माडल इंग्लिश मीडियम स्कूल का। बच्चों के हाथ में सरकार की तरफ से दी जाने वाली अंग्रेजी माध्यम की कुछ किताबें। ब्लैक बोर्ड पर पढ़ाने वाले शिक्षक हिंदी माध्यम के। बोलचाल से लेकर लिखने-पढ़ने की पूरी प्रक्रिया हिंदी माध्यम में। परीक्षा का प्रश्नपत्र भी हिंदी माध्यम का। सहज ही मन में प्रश्न उठता है यह कैसा माडल इंग्लिश स्कूल है। यूं तो हम बात कर रहे हैं, उच्च प्राथमिक विद्यालय अंदावा की। पर यह पूरे जनपद के अंग्रेजी माध्यम के माडल स्कूलों की तस्वीर है। उच्च प्राथमिक विद्यालय की शिक्षक वंदना श्रीवास्तव ने बताया कि 2015 में सभी विकासखंड में पांच विद्यालयों को चिह्नित कर माडल इंग्लिश स्कूल खोले गए थे। 




उनकी पढ़ाई अंग्रेजी माध्यम से कराने का निर्देश था। अंदावा और चाका में अंग्रेजी माध्यम के स्कूल खोले गए। यहां शिक्षकों की नियुक्ति परीक्षा व साक्षात्कार के आधार पर की गई। उसके बाद अन्य स्कूलों को आज तक अंग्रेजी माध्यम के शिक्षक नहीं मिल पाए। उच्च प्राथमिक विद्यालय अंदावा में अब जूनियर स्तर पर भी अंग्रेजी माध्यम की कक्षाएं शुरू की गई हैं लेकिन इन्हें हिंदी माध्यम वाले शिक्षक ही पढ़ा रहे हैं। वार्षिक परीक्षा का प्रश्नपत्र भी बच्चों को हिंदी माध्यम का दिया गया। परिषदीय शिक्षा विभाग की तरफ से जिले में 105 माडल इंग्लिश स्कूल संचालित हैं। सभी में अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों की कमी है।

 

कहने के लिए माडल स्कूल पर शिक्षक हिंदी में पढ़ाने को मजबूर Rating: 4.5 Diposkan Oleh: TET NEWS

0 टिप्पणियाँ:

एक टिप्पणी भेजें