Apr 16, 2022

जून-जुलाई में आ सकती है चौथी लहर, स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए अलर्ट किया जारी

 लखनऊ : स्वास्थ्य विभाग ने दिल्ली और गाजियाबाद में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए शुक्रवार को अलर्ट जारी किया है, जिसमें कहा है कि लोग अगर ये समझ रहे हैं कि कोरोना पूरी तरह से समाप्त हो गया है तो ऐसा नहीं है। अभी भी लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। जून-जुलाई में कोविड की चौथी लहर आ सकती है। इसलिए लापरवाही न बरतें, मास्क लगाकर रखें और दो गज की दूरी बनाए रहें।




स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, पहले कोरोना के मामले शून्य हो गए थे, लेकिन अब आंकड़ा दिनोंदिन बढ़ रहा है। शनिवार को 10 लोग चपेट में आए हैं, जबकि 29 सक्रिय मरीज हैं। चिनहट, अलीगंज, चौक, सिल्वर जुबली समेत अन्य इलाकों के लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं। इसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग में भी डर है कि कहीं कोरोना के मामले तेजी से बढ़ने न लगें। इसको लेकर विशेषज्ञों ने जून व जुलाई में चौथी लहर की आशंका जाहिर की है। एक सप्ताह बाद लोगों को फिर से जागरूक करने की बात कही गई है। अब तक जिन लोगों ने वैक्सीन नहीं लगवाई है तो वे जरूर लगवा लें।

खतरा टला नहीं है : सीएमओ डा. मनोज अग्रवाल ने बताया कि कोरोना को मात देने के लिए लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है, लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप सावधानी न बरतें। लोगों को ज्यादा भीड़ वाले इलाके से बचकर रहना जरूरी है। घर से निकल रहे हों तो मास्क लगाएं। अस्पतालों को भी निर्देश दिए गए हैं कि आने वाले मरीजों को जागरूक करते रहें।
 
स्कूलों में आज से कोविड टीकाकरण : बच्चों के टीकाकरण के लिए स्वास्थ्य विभाग शनिवार से 253 स्कूलों में शिविर लगा रहा है। 12-14 साल तक के बच्चों में शत प्रतिशत टीके के लिए स्वास्थ्य विभाग ने पहल की है, क्योंकि बहुत ही कम संख्या में बच्चों का टीकाकरण हुआ है। इसमें 34430 बच्चों के टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. एमके सिंह ने बताया कि स्कूलों में टीकाकरण शिविर लगाने की तैयारी कर ली गई है। स्कूल प्रबंधकों को पत्र जारी कर दिया गया है कि वे अपने स्कूल के 12-14 साल तक के छात्र व छात्रओं का शत प्रतिशत टीकाकरण करवाएं। एक लाख 94 हजार 424 बच्चों को वैक्सीन लगाई जानी है। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए स्कूलों में टीका लगाया जाएगा। स्कूल खुलने के साथ ही बंद होने तक टीकाकरण जारी रहेगा। सीएमओ डा. मनोज अग्रवाल ने बताया कि चार सप्ताह बाद वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई जाएगी।
 
लखनऊ : अप्रैल में बढ़ती गर्मी का असर लोगों के स्वास्थ्य पर दिख रहा है। सरकारी अस्पतालों की ओपीडी में सुबह से ही लंबी कतार दिखाई दे रही है। ज्यादातर मरीज डिहाइड्रेशन (शरीर में पानी की कमी) उल्टी, सिरदर्द, तेज बुखार, पेट दर्द और डायरिया के पहुंच रहे हैं। ऐसे मरीजों की संख्या में 30 से 40 फीसद का इजाफा हुआ है।
 
लोकबंधु अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. अजय शंकर त्रिपाठी ने बताया कि अधिक गर्मी के चलते मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है। ओपीडी में रोजाना मरीजों का आंकड़ा हजार पार कर रहा है। शरीर में विद्युत प्रकाश (इलेक्ट्रोलाइट) के असंतुलित होने पर दस्त और रक्तचाप के कम होने की समस्या मरीजों में देखने को मिल रही है। डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल के सीएमएस डा. आरपी सिंह ने बताया कि बढ़ते तापमान के कारण इन दिनों कमजोरी महसूस होना, मांसपेशियों में ऐंठन, पेट खराब होने के मामलों में 15 से 20 फीसद की बढ़ोतरी हुई है। यह सभी समस्याएं गर्म हवा के कारण पैदा हो रही है। शुक्रवार को लोहिया और एसजीपीजीआइ की ओपीडी बंद रही। सिविल में 1038, लोकबंधु में 1008 और बलरामपुर में 1504 मरीज ओपीडी में इलाज के लिए पहुंचे।
 

जून-जुलाई में आ सकती है चौथी लहर, स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए अलर्ट किया जारी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: tetnews

0 comments:

Post a Comment